थियेटर करने से एनर्जी मिलती है : अजय कुमार चतुर्वेदी

( धर्मेन्द्र साहू )

मुम्बई। फिल्म एवं टेलीविजन कलाकार अजय कुमार चतुर्वेदी का कहना है कि उन्हें थियेटर करने से आज भी एनर्जी मिलती है। इसलिये इस विधा के लिये हमेशा समर्पण बना रहेगा।

खास रिपोर्ट डॉट कॉम से बातचीत करते हुये अजय कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि बचपन में टीवी सीरियल रामायण और महाभारत देखकर मैं इतना प्रभावित हुआ कि अंदर छुपा कलाकार जाग गया और फिर एक्टिंग का ये सफर थियेटर से शुरू होकर टीवी व फिल्म की दुनिया में पहुंचा। उत्तर प्रदेश के इटावा के रहने वाले अजय 1996 से कला के क्षेत्र से जुड़े। ग्रेजुएशन करने के दौरान परिजन चाहते थे कि कोई टेक्निकल डिप्लोमा होना चाहिये ताकि सरकारी नौकरी मिल जाये । इसीलिये अजय का एडमीशन आईटीआई में करा दिया गया। लेकिन अजय के दिमाग में तो एक्टिंग का जुनून चढ़ा हुआ था। फिल्म कलाकार नसीरूददीन शाह का एक इंटरव्यू पढ़ने के बाद तो अजय को लगा कि इनका मुकाम सिर्फ एक्टिंग है।
एक पारिवारिक कार्यक्रम में शिरकत करने दिल्ली पहुंचे अजय ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमीशन का प्रयास किया लेकिन उस वक्त सीटें फुल हो चुकी थीं। सौभाग्य से इनको वरिष्ठ रंगकर्मी एन.के.शर्मा का सानिध्य मिल गया। एक्ट वन थियेटर ग्रुप से जुड़कर इन्होंने अभिनय की बारीकियां सीखीं। इस दरमियान इनके परिजन को ये पता था कि अजय दिल्ली में जॉव कर रहे हैं जबकि हकीकत में वे थियेटर ग्रुप से जुडे़ गये थे। ये बात केवल इनके बचपन के साथी हेमंत तिवारी जानते थे। हालांकि बाद में इनके बहनोई अरूण कुमार दीक्षित ने इन्हें काफी सपोर्ट किया जिसकी बदौलत इनका आत्मविश्वास और बढ़ गया।
लम्बे समय थियेटर मे काम करने बाद अजय मुम्बई पहुंचे और एक साथी की मदद से फिल्म निर्देशक महेश भटट से मुलाकात हुई । उस वक्त महेश भटट अपनी बेटी पूजा भटट की फिल्म जख्म बना रहे थे जिसमे एक रोल करने का मौका अजय को मिला। इसके बाद अजय ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। अक्षय कुमार की फिल्म गब्बर इज बेक में इन्होंने कॉन्ट्रेक्टर की भूमिका निभाई है। प्रोडक्शन के क्षेत्र में भी अजय ने अपने हाथ आजमाये। प्रसिद्ध रियल्टी शो बिग बॉस सीजन-1 में इन्होंने असिस्टेंट प्रोडक्शन मैनेजर के रूप में काम किया।
टीवी शो सावधान इंडिया, क्राइम पेट्रोल समेत दर्जनों शोज में अजय ने अपने अभिनय से अलग पहचान बनाई है। एनडीटीवी इमेजिन के राधा की बेटियां व सोनी के भास्कर भारती में इन्होंने प्रोडक्शन मैनेजर के रूप में  कार्य किया है    किया है। गरिमा प्रोडक्शन के चिड़ियाघर सीरियल में लगभग एक साल से अजय अभिनय कर रहे हैं। चिड़ियाघर में वे स्टेशन मास्टर का किरदार निभाते आ रहे हैं लेकिन इन दिनों वे फॉरेस्ट इंस्पेक्टर  के रूप में नज़र आ रहे है।
अजय ने बताया कि हाल ही में उन्होंने 2002 में  बिच्छू नामक थियेटर मुम्बई में प्ले किया है जबकि 2016 में संतोष ओझा द्वारा  निर्देशित पूरनमासी की रात प्ले किया। जिसे काफी सराहा गया। । समय-समय पर वे थियेटर इसलिये भी करते हैं कि थियेटर से एनर्जी मिलती है और थियेटर करने से एक कलाकार की आत्मा सही मायने में तृप्त होती है।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: