विरासत में मिली एक्टिंग को निखारना भी बड़ी चुनौती : रामांश बुंदेला

( धर्मेन्द्र साहू )
मुम्बई। यूँ तो रामांश को एक्टिंग विरासत में मिली है लेकिन वे कड़ी मेहनत से अपने अंदर के कलाकार को निखार रहे हैं । फिल्म निर्देशक राम बुंदेला के बेटे रामांश को बचपन से ही फिल्म अभिनेता बनने का शौक है । चूँकि पारिवारिक माहौल फिल्मी है इसलिए कभी कैमरा फेस करने में कोई परेशानी नहीं हुई । रामांश ने खास रिपोर्ट डॉट कॉम से बातचीत करते हुए कहाकि उनके ताऊजी फिल्म अभिनेता व निर्देशक राजा बुंदेला एवं ताईजी फिल्म व टीवी अभिनेत्री सुष्मिता मुखर्जी से उन्हें शुरू से ही प्रेरणा मिली है । उन्होंने कहाकि विरासत में मिली कला आसान जरूर लगती है लेकिन उसको सहेजना और आगे बढ़ाना बड़ी चुनौती होती है ।
रामांश बुंदेला इन दिनों स्टार प्लस पर प्रसारित हो रहे सीरियल ‘मेरी दुर्गा’ में बंटूजी का किरदार निभा रहे हैं । मेरी दुर्गा में बंटूजी पात्र को सभी सराह रहे हैं।  इसके पहले रामांश ने क्राइम पेट्रोल, सावधान इंडिया और सम्राट अशोक जैसे सीरियलों में रोल किये हैं।  इंटरमीडियेट पास कर अभी रामांश मास मीडिया का कोर्स कर रहे रहें । सेट पर जब वक्त मिलता है तो वही पढ़ाई कर लेते हैं बाकी रात में घर पर तो स्टडी करते ही हैं ।
रामांश कहते है कि मेरी दुर्गा के सेट पर मुझे सभी का बहुत प्यार मिल रहा है. दादी का रोल निभा रही अमरदीप जी तो बहुत केयर करती हैं  और अब ‘मेरी दुर्गा’ की पूरी यूनिट ही एक रियल फैमली की तरह बन गई है   ।  रामांश अभी एक वेब सीरीज पर काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मेरे पापा ने भी  मुझे दोस्त की तरह एक्टिंग सिखाई है। मम्मी भी बचपन से ही एक्टिंग के  लिए खूब सपोर्ट करती रही हैं।
फिल्म अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी को अपना आइडल मानने वाले रामांश का लक्ष्य है फ़िल्में और इसको लेकर वे कड़ी मेहनत कर रहे हैं ।
अपनी मातृभूमि बुंदेलखंड पर गर्व करने वाले रामांश का कहना है कि बुंदेलखंडी लोग जो संकल्प लेते हैं उसे हर हाल में पूरा करते हैं । उन्होंने कहाकि वे बुन्देली परंपराओं का हमेशा सम्मान करते हैं ।
0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: