वरिष्ठ साहित्यकार डॉ.रामगोपाल शर्मा ’दिनेश‘ को समर्पित अभिनंदन ग्रन्थ ’दिनेशायन‘ लोकार्पित

वरिष्ठ साहित्यकार डॉ.रामगोपाल शर्मा ’दिनेश‘ को समर्पित अभिनंदन ग्रन्थ ’दिनेशायन‘ लोकार्पित

धर्मेन्द्र साहू
जयपुर। देश के ख्याति प्राप्त बहुआयामी साहित्यकार डॉ.रामगोपाल शर्मा ’दिनेश‘ के सम्मान में लिखित अभिनंदन ग्रन्थ दिनेशायन का लोकार्पण समारोह पूर्वक किया गया। शहर के रोटरी सभागार में राजस्थान के पूर्व राज्यपाल नबरंग लाल टिबरेवाल की अध्यक्षता और पूर्व कम्पट्रोलर एवं ऑडीटर जनरल त्रिलोकी नाथ चतुर्वेदी के मुख्य आतिथ्य में आयोजित इस कार्यक्रम में साहित्य प्रेमियों का कुम्भ देखने को मिला।
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति आर.के.कोठारी और डी.आई.जी.रेंज प्रसन्ना खमसेरा रहे। इस दौरान वक्ताओं ने देश के प्रसिद्ध साहित्यकार और मोहनलाल सुखाड़िया यूनीवर्सिटी उदयपुर राजस्थान के पूर्व हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ.रामगोपाल शर्मा ’दिनेश‘ की साहित्य के क्षेत्र में अमूल्य उपलब्धियों की काफी प्रशंसा की और उन्हें मॉं सरस्वती का सुयोग्य पुत्र बताया।
साहित्य जगत के प्रकाण्ड कर्मयोगी डॉ.रामगोपाल शर्मा ’दिनेश‘ के अभिनंदन में विभिन्न लेखकों द्वारा लिखित ग्रंथ दिनेशायन का लोकार्पण स्वयं डॉ. दिनेश की मौजूदगी में होना सभी को हर्षोल्लासित कर रहा था। उल्लखेनीय है कि साहित्य मनीषी डॉ.रामगोपाल शर्मा ’दिनेश‘ ने अपनी लेखनी के जरिये हिन्दी साहित्य को जन-जन तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उनकी अभी तक 130 कृतियां प्रकाशित हो चुकीं हैं। साहित्य जगत के शोधार्थियों के लिये उनका लेखन सटीक मार्ग प्रशस्त करता है।
इस अवसर पर आयोजन समिति के डॉ. देवर्षि कलानाथ शास्त्री, डॉ.नरेन्द्र शर्मा कुसुम, बालगोपाल गुप्त, प्रो.रामलक्ष्मण गुप्त समेत अनेक गणमान्य नागरिक और साहित्यकार मौजूद रहे।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: