झांसी का नाम जोड़ने की आवाज बॉलीवुड से भी आई

  • धर्मेन्द्र साहू
    झांसी/मुंबई : झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई किये जाने के बाद इसमें झांसी नाम जोड़ने की आवाज काफी मुखर हो गई है। बॉलीवुड के दिग्गजों ने भी स्टेशन में झांसी नाम जोड़ने की मांग की है।


मशहूर फिल्म निर्देशक एव लेखक राज शांडिल्या ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा है कि वैसे तो झांसी का नाम ही नहीं बदलना चाहिये था लेकिन उसमें अब झांसी जोड़कर रानी लक्ष्मीबाई झांसी नगर नाम किया जाना जरूरी है।


कास्टिंग डायरेक्टर प्रवीन चन्द्रा के मुताबिक झांसी अपने आपमें इतिहास है। ऐसे में झांसी नाम हटाया जाना दुर्भाग्यपूर्ण है । उन्होंने कहाकि सरकार अविलम्ब स्टेशन में झांसी का नाम जोडे़ ताकि इस ऐतिहासिक नगर की गरिमा बरकरार रहे।


फिल्म डायरेक्टर राम बुंदेला का कहना है कि ये तो वही बात हो गई कि दो आंखों में से एक आंख हटा दी गई हो क्योंकि रानी और झांसी एक दूसरे के पर्याय हैं। उन्होंने कहाकि विश्व में रानी को झांसी के नाम से तुरंत पहचान लिया जाता है । झांसी रेलवे स्टेशन लोगों को इतिहास की झलक और रानी की शौर्यता की पहचान था इसलिये इसमें रानी के नाम के साथ झांसी जुड़ना जरूरी है।


एण्ड टीवी के मशहूर शो गुड़िया हमारी सभी पे भारी सीरियल की मुख्य कलाकार गुडिया यानी सारिका का कहना है कि पूरी दुनिया में झांसी का नाम है। उसके नाम से ही रानी की छबि जेहन में आ जाती है इसलिये सरकार को चाहिये कि झांसी रेलवे स्टेशन के नाम में पुनः झांसी शब्द जोड़ा जाये।


फिल्म अभिनेता आरिफ शहडौली ने कहाकि झांसी दो अक्षर का प्यारा नाम है। रानी लक्ष्मीबाई ने अंग्रेजों से हुंकार भरते हुये कहा था कि मैं अपनी झांसी नहीं दूंगी । इसलिये झांसी नाम के बिना ये स्टेशन अधूरा है।


प्रोडयूसर रितु वैद्या भी कहती हैं कि झांसी और रानी एक-दूसरे के पूरक हैं । स्टेशन से झांसी नाम हट जाने से यहां कि पहचान ही समाप्त हो जायेगी क्योंकि जब लोग झांसी शब्द पढ़ते हैं तो तुरंत कहते हैं कि ये रानी वाली झांसी है। उन्होंने रेलमंत्री से मांग की है कि स्टेशन में तुरंत झांसी नाम जोड़ा जाये।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: