Khas Report

Official News Portal

उत्तर प्रदेश

झांसी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के जनसेवा कार्यों पर एक दिवसीय वर्कशॉप

झांसी में मदरसा इस्लामिया महादुल मारिफ़ मस्जिद शहीदएन जीवनशाह मस्जिद में आज मुफ्ती इमरान नदवी की अध्यक्षता में एक कार्यक्रम आयोजित हुआ जिसमें उन्होंने बताया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस्लाम का एक ऐसा दस्तूर है जिसमें सिखाया जाता है कि मुसलमानों को घरेलू जिंदगी कैसे गुजारना चाहिए निकाह, तलाक, खुला, पिता की प्रॉपर्टी में बेटियों का हिस्सा व ज़रूरी चीजों को पेश किया ताकि हम सही जिंदगी गुजार कर एक अच्छा इंसान बन सके मुख्य अतिथि के रूप में बोर्ड के आर्गनाइजर क़ाज़ी तबरेज आलम साहब ने तफसील से बताया कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड क्या है।

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड में तब्दीली की जरूरत क्यों नहीं, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इंसान की फितरत और नैचर के बिल्कुल मुताबिक है, बोर्ड इस्लाम को प्रैक्टिली इख्तियार करने की ज़रूरत को बताता है, बोर्ड किसी पुरानी संस्कृति या कल्चर को अपनाने या रद्द करने के बात नहीं करता, बल्कि यह तो पैगंबर का वो तरीका सिखाता है जिसकी आज इंसानियत को जरूरत है उन्होंने आगे कहा अगर आज का मुसलमान इस्लाम के मुताबिक जिंदगी बसर करे तो हमेशा खुशहाल रहे उन्होंने बताया की बोर्ड का एक अहम मकसद मुसलमानों के तमाम मसालिक यानी बरेलवी, देवबंदी, जमात ए इस्लामी, अहले हदीस, शिया, तमाम लोगों को जोड़ना और यूनिटी के साथ काम करना भी है जिसकी मिसाल आज के इस सेमिनार में देखने को भी मिली की तमाम अलग-अलग सोच रखने वाले लोगों ने आज इस सेमिनार में भाग लिया और अपनी बात भी रखी इस मौके पर सवाल जवाब का भी सेशन हुआ जिसमें क़ाज़ी तबरेज साहब ने सब को जवाब भी दिए इस अवसर पर सुलतान अहमद खान, सय्यद नूर अहमद, उमर खान रेलवे, मौलाना फरमान आबिदी, हाजी नासिर, नूर अहमद मंसूरी, मुफ्ती आरिफ नदवी, नौशाद ठेकेदार, मुफ्ती इजलाफ कासमी और भी सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहे संचालन मुफ्ती अफ़फान असदी ने और आभार हाजी मुजाहिद ने व्यक्त किया।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *